अपने स्वयं की business या startup कैसे शुरू करे? | Startup Tips Hindi

नमस्कार दोस्तों, जैसा कि हम सभी जानते है  Peter Theil एक billionaire Entrepreneur, Venture capitalist और PayPal के Founder हैं।

अपने स्वयं की business या startup कैसे शुरू करे? | Startup Tips Hindi

एक बार उन्होंने Stanford University में स्टार्टअप्स और बिजनेस से संबंधित लेक्चर दियाजिसमे उन्होंने छात्रों को कुछ सिद्धांत बताए, जिसकी मदद से  वे अपनी स्वयं की अरबपति कंपनी शुरू कर सकते हैं।

 Blake Masters नाम के एक छात्र ने उस सिद्धांतों का एक विस्तृत नोट(Note)  बना लिया और लोगों को वह नोट(Note)  इतनी काम की लगी कि वह कॉलेज के बाहर भी फैलने लगी।  तब Peter Theil ने Blake Masters के साथ काम करके उन Notes में और सुधार किया और इसकी एक book बनाई ताकि Stanford University के छात्र या उनका देश उस ज्ञान का उपयोग कर सके बल्कि यह पूरी दुनिया तक पहुँच सके।

आज मै आपको इनमे से startup शुरू करने के तीन सिद्धांत बताने वाला हूँ।

 सिद्धांत संख्या 1 (Principle Number 1)

 0 से 1 तक जाओ (Go From Zero to One)

ऐसे समय में जब घोड़ों का इस्तेमाल यात्रा के लिए किया जाता था। उस समय यदि आपने लोगों को तेज घोड़े प्रदान किए या बेहतर घोड़ा गाड़ी बनाने का व्यवसाय किया, तब आपने अपने व्यवसाय में प्रगति हासिल की होगी, लेकिन उस प्रगति को 1 से N तक जाना कहा जाएगा।

लेकिन अगर आपने लोगों को घोड़ा गाड़ी बनाने के बजाय यात्रा करने का एक नया तरीका कार बनाकर दिया होता तो  उस प्रगति को 0 से 1 तक जाना कहा जाएगा।  यदि आप सफल होना चाहते हैं, तो कुछ नया करें और  0 से 1 तक जाने की कोशिश करे। इसे ऊर्ध्वाधर प्रगति(Vertical Progress) के रूप में भी जाना जाता है।

 कुछ ऐसा करें जो पहले कभी न हुआ हो क्योंकि, यदि कुछ  पहले से ही बना हुआ है और आप उसी को संशोधन करके  कुछ नया बना रहे है तो आप 1 से N की ओर जा रहे हैं। इसे क्षैतिज प्रगति के रूप में जाना जाता है।

लेकिन ऐसा करने से आपकी सफलता की संभावना कम हो जाएगी और अगर आपको गलती से भी सफलता मिलती है तो यह बहुत बड़ी नहीं होगी और लंबे समय तक नहीं चलेगी।

व्यापार की दुनिया में हर एक बड़ी घटना सिर्फ एक बार ही होती है, दुनिया का अगला Mark Zuckerberg सोशल नेटवर्किंग साइट नहीं बनाएंगे या अगला larry page एक search engine ही नहीं बनाएंगे।

यदि आप उनके product की नकल कर रहे हैं, तो आप उनसे सीख नहीं रहे है क्योंकि उन्हें भी सफलता 0 से 1 तक जाने से ही मिली।

 सिद्धांत संख्या 2 (Principle Number 2)

एकाधिकार प्रतियोगिता(monopoly competition) से बचें।

यदि हम बात करे हमारे समाज की तो यहां प्रतिस्पर्धा को अधिक महत्व दिया जाता है। हमारी शिक्षा प्रणाली छात्रों को बहुत कम उम्र में ही प्रतिस्पर्धा करना सीखा देती हैं, वे पहले अंक/ग्रेड के लिए प्रतिस्पर्धा करते हैं, फिर नौकरी के लिए और जब किसी के साथ प्रतिष्पर्धा करने को नहीं मिलता है तो वे अपने परोसी के साथ प्रतिस्पर्धा करते है बड़ी कार और टीवी की तुलना में।

 लेकिन वास्तविकता यह है कि अधिकांश समय प्रतियोगिता आपको हर चीज के लिए पीड़ा देती है।

 Peter Theil कहते हैं कि प्रतिस्पर्धा और पूंजीवाद पूरी तरह से विपरीत है, एक लाभ उत्पन्न करने के बारे में है, और दूसरा लाभ को समाप्त करने के बारे में है। जितना अधिक आप अपने व्यवसाय के लिए बाजार में प्रतिस्पर्धा करेंगे, उतना ही कम आप लाभ कमाएंगे चाहे आपका व्यवसाय बहुत बड़ा क्यों ना हो।

सिद्धांत संख्या 3 (Principle Number 3)

एक niche market के साथ शुरुआत करें और फिर डोमिनेट करें।

जैसे कि AMAZON एक ऐसी वेबसाइट है जहाँ आपको लगभग हर तरह के products मिल जाते हैं। लेकिन AMAZON ने अपनी शुरुआत ऐसे नहीं की हैं।

शुरुआत में, AMAZON ने छोटे बाजार पर अपना ध्यान केंद्रित किया जो सिर्फ और सिर्फ किताबे पढ़ने वालो के लिए था।

पहले किताबे केवल बुकस्टोर में उपलब्ध होती थी, जिसके कारण किताब ढूंढने में बहुत मुश्किल होती थी और इससे किताब के प्रकाशकों को बहुत नुकसान होता था। फिर AMAZON एक ऑनलाइन बुक  स्टोर के रूप में आया और इससे कई लोगों को बहुत लाभ हुआ।

किताबो के व्यवसाय में सफलता के बाद इन्होने कई और market में अपने कदम रखे।

ऐसा ही एक और उदाहरण PayPal का है।

Peter Theil ने शुरुआत में केवल ऑनलाइन भुगतान के niche market पर ध्यान केंद्रित किया। यह बाजार eBay users के लिए था। जहां उन्हें हर खरीद के लिए और खरीद के उद्देश्य से चेक का उपयोग करना होता था (जहां उन्हें लंबे समय तक इंतजार करना पड़ता था।)

Peter Theil ने इसका हल PayPal के रूप में किया (जहां वे आसानी से पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं।)

eBay जैसे छोटे बाजार पर हावी होने के बाद, PayPal धीरे-धीरे आम जनता की ओर बढ़ा। आज PayPal एक बिलियन डॉलर कंपनी बन गई हैं।

इसी तरह यदि आप अपने व्यवसाय को सफल बनाना चाहते है तो niche market पर ध्यान केंद्रित करना शुरू करें।

एक छोटे समूह की उस बड़ी समस्या को हल करे जिसपर कोई ध्यान नहीं दे रहा है।

शुरुआत मे अपनी सर्वश्रेष्ठ सेवा दें और बाद में धीरेधीरे अपने व्यवसाय का विस्तार करे और बाजार पर हावी हों।

हमेशा याद रखें, बड़े तालाब के अंदर छोटी मछली बनने के बजाय(जहाँ अन्य बड़ी मछलियाँ आपको खा सकती है), एक छोटे तालाब में एक बड़ी मछली बनने की कोशिश करें और फिर बड़े तालाब में जाये।

 जब आप इन बातों का पालन करते हैं और अपना व्यवसाय शुरू करते है तो आपके सफल होने की अधिक संभावना होगी।

ये सिद्धांत Peter Theil की किताब Zero To One से साझा किए गए हैं। यदि आपको व्यवसाय या स्टार्टअप में रुचि है, तो आपको निश्चित रूप से इस किताब को पढ़ना चाहिए।

यदि आपको यह फायदेमंद लगा हो तो इसे दुसरो के साथ जरूर शेयर करे।

About the Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *